आजकल की मौजूदा जीवनशैली में प्रतिस्पर्धा, बढ़ता प्रदुषण दर, फ़ास्ट फ़ूड का उपयोग, देर रात तक काम करना, एक आम बात हो गई है। इन्ही कारणों से आजकल ज्यादातर व्यक्ति स्वास्थ्य समस्याओ से जूझ रहे है। यहाँ तक की आजकल एक स्वास्थ्य व्यक्ति को भी बीमारियों से उतना ही खतरा है जितना की एक अस्वस्थ्य व्यक्ति को।

ऐसे परिस्तिथि में बढ़ते अस्पताल के खर्च, लोगो के स्वास्थ्य सम्बंधित चिंताओं को और भी बढ़ रहे है।आजकल अस्पताल में की गई एक सामान्य सर्जरी भी आपके लिए लाखों का खर्च बन सकती है।

एक सही स्वास्थ्य बीमा आपको उपरोक्त समस्याओ से जूझने में काफी मददगार साबित हो सकती है। मामूली प्रीमियम रकम का भुगतान कर के आप खुद के लिए और अपने परिवार के लिए काफी बड़ी राशि का कवर पा सकते है। पर जिस तरह हर सिक्के के दो पहलु होते है उसी तरह स्वास्थ्य बीमा के भी फायदे और नुकसान  है।

तो आइये इस लेख के द्वारा हम जाने स्वास्थ्य बीमा के विभिन्न फायदों और नुकसानों को।।

स्वास्थ्य बीमा के फायदे

  1. अस्पताल के खर्च से सुरक्षा

एक स्वास्थ्य बीमा आपके चिकित्सकीय उपचार पे होने वाले खर्च के प्रति सुरक्षा प्रदान करता है। बीमा कंपनी के उल्लेखित नेटवर्क अस्पतालों की सूचि में से आप कही भी जाके आसानी से नकादीहिन उपचार करा सकते है। बाकी अस्पतालों में आप इलाज़ के बाद, इलाज़ पे किये गए खर्च का दावा कर अपने रकम की भरपाई कर सकते है। इन्ही कारणों से एक स्वास्थ्य बीमा आपके जीवन में अनिश्चितताओ को दूर कर निश्चितता लाता है।

  1. गंभीर बीमारियों के लिए कवर

स्वास्थ्य बीमा आपके गंभीर बीमारियों जैसे की, कैंसर, स्ट्रोक, पैरालिसिस, इत्यादि के लिये भी कवर प्रदान करता है। आपके द्वारा गंभीर बीमारियों पर किये गए असल खर्च के निरपेक्ष आपको अपने स्वास्थ्य बीमा के अंतर्गत एक एकमुश्त राशि मिलती है।स्वास्थ्य बीमा की ये सुविधा आपको गंभीर बीमारियों पे होने वाले बड़े खर्च से बचा सकता है।

  1. कर लाभ

स्वास्थ्य बीमा के द्वारा आपको आयकर अधिनियम,1961 के अंतर्गत कर लाभ मिलता है। अनुभाग 80D  के तहत स्वास्थ्य बीमा पे दिए गया प्रीमियम राशि, कर कटौती योग्य होता है और अगर बीमित व्यक्ति एक वरिष्ठ नागरिक है तो कर लाभ की राशि और भी बढ़ जाती है।

  1. आरोग्यलाभ की सुविधा

कुछ स्वास्थ्य बीमाओं के अंतर्गत आपके अस्पताल में भर्ती होने पे हर दिन के लिए एक दैनिक राशि मिलती है। इसके लिए आपको असल में किये  गए  दैनिक खर्च का कोई ब्योरा रखने की भी कोई जरुरत नहीं है। इस सुविधा के अंतर्गत आपको मिली दैनिक राशि, असल में किया गए खर्च पे निर्भर नहीं होती।

स्वस्थ्य बीमा के नुकसान

  1. बढ़ती उम्र के साथ बढ़ता प्रीमियम

स्वास्थ्य बीमा में आपका प्रीमियम आपकी उम्र पर निर्भर होता है। इन्ही कारणों से अगर आप स्वास्थ्य बीमा, ज्यादा उम्र में खरीदते है तो आपको सामान्य प्रीमियम से कई ज्यादा प्रीमियम देना पड़ता है। इसलिए वरिष्ठ नागरिको को स्वास्थ्य बीमा खरीदना काफी महंगा साबित होता है।

  1. गंभीर स्वास्थ्य के स्थिति में स्वास्थ्य बीमा के आवेदन की अस्वीकृति

ज्यादातर स्वास्थ्य बीमाओं में आपको बीमा लेने से पहले चिकित्सा जांच से गुजरना पड़ता है। इससे बीमा कंपनी को आपके स्वास्थ्य की स्थिति पता चल जाती है।पर अगर चिकित्सा जांच में ये पता लग जाए की आपकी स्वास्थ्य की स्थिति बेहद गंभीर है तो बीमा कंपनी आपके स्वास्थ्य बीमा के आवेदन को ख़ारिज भी कर सकती है।

  1. दावे के रिकॉर्ड अनुसार प्रीमियम राशि में व्रिद्धि

स्वास्थ्य बीमा में आपकी  प्रीमियम राशि हमेशा एक सामान्य नहीं होती है। आपके पिछले दावे के रिकॉर्ड अनुसार, बीमा कंपनी आपके प्रीमियम रकम में व्रिद्धि भी कर सकती जिसके कारण आपको प्रारंभिक प्रीमियम राशि से ज्यादा प्रीमियम देना पद सकता है।

तो अपने जरुरत और परिस्तिथि के अनुसार, बिना किसी विलंब के स्वास्थ्य बीमा खरदे और उसके विभिन्न सुविधाओं और लाभो का फायदा उठाये। एक सही स्वास्थ्य बीमा न ही आपको चिकित्सकीय इलाज़ पे होने वाले खर्च से बचाता है बल्कि आजकल के बढ़ते हुए चिकित्सकीय खर्च से भी सुचारू रूप से निपटने का मौका प्रदान करता है।

Disclaimer -This is a guest post by Mr. Harjot Singh Narula, Founder and CEO of  www.comparepolicy.com. http://insuranceblog.asia is not associated with Mr.Harjot Singh Narula. This post is purely for knowledge sharing purposeInsuranceblog.asia have not received any monetary benefits for publishing this post or for referrals. Please visit any link outside http://insuranceblog.asia at your own risk.

One Comment

Leave a Reply