एलआईसी की नयी योजना एलआईसी कैंसर कवर (प्लान न. 905)

एलआईसी की नयी योजना एलआईसी कैंसर कवर (प्लान न. 905)

एल आई सी, सामान्य बीमा

भारतीय जीवन बीमा निगम द्वारा दिनाँक 14/11/2017 को अपनी एक नयी स्वास्थय बीमा योजना केंसर कवर, प्लान न. 905 जारी की है। एलआईसी कैंसर कवर की युनिक पहचान संख्या 512N314V01 है।

यह एक नॉन लिंक्ड, नियमित प्रीमियम भुगतान स्वास्थ्य बीमा योजना है जो पॉलिसी अवधि के दौरान बीमा धारक को कैंसर के प्रथम चरण/मेजर स्टेज कैंसर के पता चलने पर एक निश्चित बीमा राशि का भुगतान करता है। Continue reading “एलआईसी की नयी योजना एलआईसी कैंसर कवर (प्लान न. 905)”

जानिये स्वास्थ्य  बीमा के 5 अनजान पहलुओ को

जानिये स्वास्थ्य बीमा के 5 अनजान पहलुओ को

गेस्ट पोस्ट, सामान्य बीमा

एक स्वस्थ्य जीवनशैली सिर्फ बीमारिया होने के खतरों को कम करता है ना की आपको बीमारियों के पहुच से पूरी तरह से दूर रखता है। आज के दौर में एक स्वस्थ्य आदमी जो की पौष्टिक आहार के साथ एक स्वस्थ्य जीवनशैली का पालन करता है, वो भी बीमारियों की चपेट में आसानी से आ सकता है और इसका कारण आजकल की पर्यावरण की बिगड़ती स्तिथि भी है। ऐसे स्तिथि से आप अंदाजा लगा सकते है की आजकल स्वास्थ्य सम्बन्धी परेशानियों से कितने लोग जूझ रहे है। Continue reading “जानिये स्वास्थ्य बीमा के 5 अनजान पहलुओ को”

कैसे बचत कर सकते है आप अपने वाहन बीमा प्रीमियम राशि पर

कैसे बचत कर सकते है आप अपने वाहन बीमा प्रीमियम राशि पर

गेस्ट पोस्ट, सामान्य बीमा

भारत में सड़क दुर्घटनाओ की बढ़ती संख्या एक बहुत बड़ी परेशानी का कारण बन चुकी है। आंकड़ो के अनुसार, वर्ष 2015 में ही लगभग 146,133 लोग सड़क दुर्घटना में मारे गए । अगर हम रोजाना के औसतों की बात करे तो भारत में हर दिन लगभग 400 लोग सड़क दुर्घटना में मारे जाते है। असंरचित सड़को और लापरवाह ड्राइवर्स के चलते सड़क से जुड़े जोखिम बहुत ज्यादा बढ़ गए है। ऐसे परिस्थिति में आपके पास एक वाहन बीमा होना बेहद जरुरी है पर आजकल के बढ़ते वाहन बीमा के दामो के चलते, बीमा का यह उत्पाद आम आदमियो के लिये एक वित्तीय परेशानी बन गया है। Continue reading “कैसे बचत कर सकते है आप अपने वाहन बीमा प्रीमियम राशि पर”

बीमा कंपनी नहीं दे रही हो क्लेम, तो ये हैं कुछ उपाय जो करेंगे आपकी मदद

बीमा कंपनी नहीं दे रही हो क्लेम, तो ये हैं कुछ उपाय जो करेंगे आपकी मदद

जीवन बीमा, सामान्य बीमा

बीमा कंपनी के ग्रीवांस ऑफिसर से करें शिकायत

ऐसी घटनाएं नई नहीं हैं। कई बार बीमा कंपनियां या इनके ब्रोकर/कॉरपोरेट एजेंट किसी क्लेम को पूरा करने में टालमटोल करते हैं। जहां पॉलिसी होल्डर की शिकायत के पीछे अपनी वजहें होती हैं, वहीं बीमा कंपनियां भी क्लेम खारिज करने के पीछे अपने कारण बताती हैं।
कारण चाहे जो भी हो, एक बीमाधारक के रूप में अगर आप किसी बीमा कंपनी से नाखुश हैं, तो आप उसके ग्रीवांस ऑफिसर से संपर्क कर सकते हैं। आप अपनी शिकायत लिखित में दें और इसके साथ जरूरी दस्तावेज भी दें। आप अपनी शिकायत दर्ज कराने की एक्नोलेजमेंट लिखित में लें।

अगर यहां न बने बात, तो इरडा से करें शिकायत

कायदन बीमा कंपनी को शिकायत दर्ज करने के 15 दिनों के भीतर इसका निबटारा कर देना चाहिए। अगर ऐसा नहीं होता या फिर आप कंपनी की ओर से किए गए निबटारे से असंतुष्ट हैं, तो बीमा नियामक इरडा के कंज्यूमर एफेयर्स डिपार्टमेंट के ग्रीवांस रिड्रेसल सेल से संपर्क करें। इसके लिए टॉल फ्री नंबर 155255 या फिर 1800 4254 732 पर संपर्क करें। आप इन्हें complaints@irda.gov.in पर ईमेल भी भेज सकते हैं।
इसके अलावा आप इंटिग्रेटेड ग्रीवांस मैनेजमेंट सिस्टम का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए  www.igms.irda.gov.in पर रजिस्टर करें और अपनी शिकायत पर हो रही कार्रवाई को मॉनिटर करें।

कैसे मिलेगा कम्प्लेन्ट रजिस्ट्रेशन फॉर्म 

अगर आप कम्प्लेन्ट रजिस्ट्रेशन फॉर्म को लेकर परेशान हो रहे हैं तो इसे बड़ी आसानी से डाउनलोड कीजिए जा सकता है। इस लिंक पर क्लिक करके इसे डाउनलोड कर सकते हैं-
http://www.policyholder.gov.in/uploads/CEDocuments/complaintform.pdf
इस फॉर्म को भर कर आप इरडा को अपनी शिकायत साधारण डाक या कुरियर से इस पते पर भेज सकते हैं-
कंज्यूमर एफेयर्स डिपार्टमेंट
इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी
3-5-817/818, यूनाइटेड इंडिया टावर्स, नाइन्थ फ्लोर हैदरगुडा, बशीरबाग हैदराबाद- 500029
Source:
http://m.money.bhaskar.com/news/insurance/8740/PERS-INSU-how-to-make-a-complaint-if-you-are-unhappy-with-insurer-4750038-NOR.html?pg=1