पिछले साल भारतीय जीवन बीमा निगम ने अपनी  हीरक जयंती (60वी वर्षगांठ) मनायी। इस अवसर पर भारतीय जीवन बीमा निगम द्वारा अपनी नयी जीवन बीमा योजना चालु की थी, जिसका नाम है “बीमा डायमंंड” प्लान न. 841.  इस प्लान को भारत के वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली द्वारा 01/09/2016 को मुम्बई मे जारी किया गया था। यह योजना दिनाँक 31/08/2017 तक ही बिक्री के लिये उपलब्ध है। 

एलआईसी की बीमा डायमंंड एक नॉन लिंक्ड, लाभ सहित, सीमित अवधि प्रीमियम भुगतान मनी बैक योजना है। इस योजना में बीमा अवधि के दौरान हर चौथे साल धन वापसी का प्रावधान है। बीमा डायमंंड प्लान मे बीमा अवधि के समाप्त होने के पश्चात भी बीमा अवधि के आधे टर्म तक विस्तारित जीवन बीमा कवर उपलब्ध है। बीमा डायमंंड की युनिक पहचान संख्या 512N307V01 है।

Read in English: LIC’s New Plan Bima Diamond (Plan No. 841)

एलआईसी की बीमा डायमंड में ऑटो कवर

“ऑटो कवर अवधि” वह अवधि है जिसमें पॉलिसी के एक निश्चित समय तक चलने के उपरांत अगर आगे की प्रीमियम ना जमा हो, तो भी एक निश्चित अवधि तक पॉलिसी धारक को पूर्ण जीवन बीमा कवर का लाभ मिलता है। “ऑटो कवर अवधि” पहली अदत्त प्रीमियम (FUP) से चालू होती है जिसमे प्रीमियम भुगतान के लिये दी गई ग्रेस अवधि भी शामिल होती है। बीमा डायमंड  में “ऑटो कवर अवधि” निम्नानुसार उपलब्ध होगी:

  1. अगर पॉलिसी मे कम से कम तीन सालों की सम्पूर्ण प्रीमियम जमा की जा चुकी हो परंतु पाँच वर्ष की पूर्ण प्रीमियम से कम हो, एवं आगे की प्रीमियम ना जमा की गयी हो: प्रथम अदत्त प्रीमियम (FUP) से छ: माह की “ऑटो कवर अवधि” उपलब्ध है।
  2. अगर पॉलिसी मे कम से कम की पाँच वर्ष की पूर्ण प्रीमियम जमा की जा चुकी हो, एवं आगे की प्रीमियम ना जमा की गयी हो: प्रथम अदत्त प्रीमियम (FUP) से दो साल की  “ऑटो कवर अवधि” उपलब्ध है।

एलआईसी बीमा डायमंड की पात्रता शर्तें एवं प्रतिबंध

एलआईसी बीमा डायमंड मेंं उपलब्ध हितलाभ

एलआईसी बीमा डायमंड मेंं उपलब्ध विभिन्न हितलाभ निम्नानुसार हैं:

एलआईसी बीमा डायमंड में मृत्यु हितलाभ

बीमा धारक की परिपक्वता दिनाँक से पहले मृत्यु होने की दशा में (अगर पॉलिसी पूर्ण रूप से चालू हो तो)

बीमा डायमंड पॉलिसी के प्रथम 5 वर्षों के दौरान बीमा धारक की मृत्यु होने पर नोमिनी को “मृत्यु बीमाधन” देय होगा

पॉलिसी के 5 वर्षों के बाद परन्तु परिपक्वता दिनाँक से पहले बीमा धारक की मृत्यु होने पर नोमिनी को “मृत्यु बीमाधन” के साथ सहभागिता हितलाभ (Loyalty Addition), अगर कोई हो तो देय होगा

जहाँ “मृत्यु बीमाधन” जमा की जा चुकी कुल प्रीमियम के 105% से कम नही होगा। यहाँ उल्लेखित प्रीमियम में किसी भी तरह का कर, अतिरिक्त प्रीमियम एवं राइडर प्रीमियम के बिना है।

बीमा धारक की परिपक्वता दिनाँक के बाद विस्तारित जीवन बीमा कवर (Extended Life cover) के दौरान मृत्यु होने की दशा में 

बेसिक बीमाधन का 50% नोमिनी को देय होगा।

एलआईसी बीमा डायमंड में विघमानता हितलाभ (Survival Benefit)

अगर बीमा धारक पॉलिसी अवधि के दौरान एक निश्चित अवधि तक जीवित रहता है तो, मूल बीमा धन के एक निश्चित प्रतिशत के बराबर की राशि विघमानता हितलाभ के रूप में बीमा धारक को देय होगी। पॉलिसी में उपलब्ध विघमानता हितलाभ निम्नानुसार है:

एलआईसी बीमा डायमंड में परिपक्वता हितलाभ (Maturity Benefit)

परिपक्वता तिथि तक बीमित के जीवित रहने पर, “परिपक्वता बीमाधन” के साथ सहभागिता हितलाभ (Loyalty Addition), अगर कोई हो तो देय होगा। जहाँ परिपक्वता बीमाधन निम्नानुसार है:

16 वर्ष पॉलिसी अवधि के लिये “मूल बीमाधन” का 55%।

20 एवं 24 वर्ष पॉलिसी अवधि के लिये “मूल बीमाधन” का 40%।

एलआईसी बीमा डायमंड में वैकल्पिक हितलाभ

एल आई सी का दुर्घटना एवं अपंगता हितलाभ राइडर UIN (512B209V01)

अगर यह राइडर बीमा धारक द्वारा लिया गया है तो, बीमित की दुर्घटना से मृत्यु होने की दशा में  मृत्यु हितलाभ के साथ दुर्घटना बीमाधन के बराबर अतिरिक्त देय होगा, बशर्ते राइडर मृत्यु दिनाँक पर पूर्ण रूप से चालू हो। दुर्घटना के कारण हुई स्थायी अपंगता (जो दुर्घटना से 180 दिनों के अन्दर, दुर्घटना के कारण हुई हो) होने की दशा में दुर्घटना बीमाधन बराबर मासिक किश्तों में अगले दस सालों तक देय होगा।

एलआईसी का सावधी बीमा राइडर UIN (512B210V01)

अगर यह राइडर बीमा धारक द्वारा लिया गया है तो, बीमित की  मृत्यु होने की दशा में  मृत्यु हितलाभ के साथ सावधी बीमा राइडर बीमाधन के बराबर अतिरिक्त देय होगा, बशर्ते राइडर मृत्यु दिनाँक पर पूर्ण रूप से चालू हो।

एलआईसी की बीमा डायमंड में  उपलब्ध छूट

प्रस्तावक को प्रीमियम पर निम्नानुसार छूट उपलब्ध है, अगर वह वार्षिक/अर्ध वार्षिक प्रीमियम देय विधि या उच्च बीमाधन लेता है तो:

बीमा डायमंड पॉलिसी की अन्य शर्तें एवं विशेषताएँ

  1. अगर पॉलिसी मे पूर्ण तीन वर्षों की प्रीमियम दी जा चुकी है तो पॉलिसी चुकता मुल्य प्राप्त कर लेगी
  2. बीमा डायमंड पॉलसी को पॉलिसी अवधि के दौरान अभ्यर्पित किया जा सकता बशर्ते कम से कम पूर्ण तीन वर्षों की प्रीमियम दी जा चुकी हो।
  3. पॉलिसी मे पूर्ण तीन वर्षों की प्रीमियम जमा करने के पश्चात लोन सुविधा उपलब्ध है, जो की चालू पॉलिसी में अभ्यर्पण मूल्य के 90% के बराबर एवं चुकता मूल्य प्राप्त कर चुकी पॉलिसी में अभ्यर्पण मूल्य के 80% के बराबर मिलेगा।
  4. पॉलिसी को एक वित्तीय वर्ष मे पिछली दिनाँक से लिया जा सकता है।
  5. पॉलिसी मे नामांकन एवं समनुदेशन किया जा सकता है।
  6. पॉलिसी को पहली अदत्त प्रीमियम (FUP) से 2 वर्षों के भीतर पूनर्चलित किया जा सकता है।
  7. फ्री लुक अवधि, पॉलिसी दस्तावेज मिलने के 15 दिनो तक।
  8. प्रीमियम भुगतान के लिये ग्रेस पीरियड: वार्षिक, अर्ध वार्षिक एवं तिमाही प्रीमियम देय विधि के लिये एक माह (30 दिनों से कम नही) एवं मासिक प्रीमियम देय विधि के लिये 15 दिन उपलब्ध

एलआईसी बीमा डायमंड पॉलिसी की प्रीमियम दरें

42 Comments

Leave a Reply